(PMKSY) pradhan mantri कृषि सिंचाई योजना

By | August 14, 2019

Pradhan Mantri कृषि सिंचाई Yojana : भारत की Economy मुख्य रूप से कृषि पर आधारित है और देश की बढती हुई जनसंख्या को Food और Economy को मजबूती प्रदान करने के लिए जरुरी है की देश की कृषि system को सही और आधुनिक तरीके से किया जाये ताकि कम लागत में अधिक पैदावार प्राप्त की जा सके ,

जिसके लिए केंद्र सरकार द्वारा किसान Beneficial अनेक sarkari yojana का Execution किया जा रहा है, उन्ही में से एक है Pradhan Mantri कृषि सिंचाई योजना । आज के इस Post में हम आपको Pradhan Mantri कृषि सिंचाई योजना की full जानकारी प्राप्त करेंगे ।

pradhan mantri कृषि सिंचाई योजना
pradhan mantri कृषि सिंचाई योजना

Pradhan Mantri कृषि सिचाई योजना की जानकारी

Pradhan Mantr

कृषि सिंचाई योजना से देश में कृषि सिंचाई में जल को सरक्षित (Agriculture Water Conservation Scheme) प्रति बूंद पानी से उत्पादन kya जा सकता है और इस प्रकार से ग्रामीण(rural) इलाकों में Memory लाई जा सकती है।

Pradhan Mantri Shri Narendra Modi की अध्यक्षता में Economic मामलों की Cabinet committee 1 जुलाई, 2015 को आयोजित अपनी बैठक में Pradhan Mantri कृषि सिचाई yojana (PMKSY) को मंजूरी दी थी। yojana के लिए upcoming पांच सालों (2015-2020) में कुल 50,000 करोड़ रु proposed किये गये है ।

जिसमे साल 2015-16 के लिए रु 300 karodo का परिव्यय बनाया गया था, वही DACE के लिए 1800 Karodo रुपये, DoLR के लिए 1500 करोड़ रुपये, MoWR के लिए 2000 करोड़ रुपये (AIBP के लिए 1000 करोड़ रुपये और PMKSY के लिए 1000 करोड़ रुपये)।

Name Of Yojana :- pradhan mantri कृषि सिंचाई योजना

department :- जल संसाधन department, ग्रामीण विकास department, कृषि department

Launch Date :- 1 जुलाई 2015

Budget :- 2600 करोड़

Officel Website :- pmksy.gov.in

लक्ष्य pradhan mantri कृषि सिंचाई योजना

PMKSY का मुख्य उद्देश्य देश में सिंचाई system को सुद्रढ़ बनाना ,कृषि योग्य भूमि का विकास और विस्तार करना ,पानी की बर्बादी को कम करना और सही tarika से खेतों की सिंचाई or पानी की हर एक बूंद को काम में ले कर पैदावार बढ़ाना है .

village level पर जल प्रबंधन के परम्परागत जल Sources जैसे की जल Mandir, Khatri, Kuhl, Jebo, Idi, Orenis, Dong, Qatas, Bandha etc की पानी के भंडार और जलाशय को विकसित किया जाना जिससे सिंचाई को बढ़ावा मिल सके.

जमीन के पास ही जल Sources का निर्माण करवाना 

किसानों को वर्षा (rainwater) के पानी को एकत्र करने के तरीकों को सिखाना और उस पानी को सिंचाई में उपयोग के तरीके बतलाना, इस प्रकार खेती सिंचाई में नई तकनीकों को बढ़ावा दिया जायेगा और कृषि से जुड़े लोगों को इसकी पूरी जानकारी प्रदान की जाएगी,

pradhan mantri कृषि सिंचाई योजना खर्च

Pradhan Mantri कृषि सिंचाई yojana अंतर्गत देश में नदियों का विकास, गंगा संरक्षण yojana इत्यादि योजनाएँ साथ मिलकर काम कर रही है .इस yojana के तहत प्रथम 5 वर्षों (2015-20) में कुल 50,000 करोड़ रूपये की राशी खर्च की जाएगी,

जिसमे समस्त देश के राज्यों में इस कार्य में जितना खर्च होगा उसका 75% राशी केंद्र सरकार द्वारा वहन की जायेगी बाकी 25% राशी का खर्च राज्य सरकार को उठाना होगा .वहीं देश के ऊंचाई वाले स्थानों उत्तरी पूर्व के राज्यों में केन्द्रीय सरकार इस योजना के तहत 90% खर्चा देगी, उस राज्य को सिर्फ 10% का भार उठाना होगा.

Also Read This

126 total views, 9 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *